वरिष्ठ नागरिक

बुजुर्गों और दिव्यांगों के लिए एक अच्छी खबर है। भारतीय रिज़र्व बैंक ने सभी बैंकों को निर्देश दिए हैं कि 70 साल से अधिक की आयु के वरिष्ठ नागरिकों और दिव्यांग जनों को दिसंबर के अंत तक समस्त बैंकिंग सुविधाएँ उनके दरवाजे पर ही उपलब्ध करवाएं।

रिजर्व बैंक की ओर से देश के सभी बैंकों को निर्देश दिया गया है कि वरिष्ठ नागरिकों तथा शारीरिक रुप से अक्षम (दृष्टिबाधितों सहित) लोगों को उनके घर के दरवाजे पर बुनियादी बैंकिंग सुविधाएं जैसे नकदी पहुंचाना और जमा कराना, चेक बुक और डिमांड ड्रॉफ्ट पहुंचाना उपलब्ध करायी जायें।

रिजर्व बैंक की ओर से जारी अधिसूचना में कहा गया है कि कई बार बैंक वरिष्ठ नागरिकों और अक्षम लोगों को शाखाओं में बैंकिंग सुविधाएं लेने से हतोत्साहित करते हैं। रिजर्व बैंक ने कहा कि वरिष्ठ नागरिकों तथा शारीरिक रूप से अक्षम लोगों को बैंकों को बैंकिंग सुविधाएं उपलब्ध कराने का प्रयास करना चाहिए।

केंद्रीय बैंक की ओर से देश के तमाम बैंकों को कहा गया है कि वे 31 दिसंबर, 2017 तक इन निर्देशों का क्रियान्वयन करें। बैंक शाखाओं और वेबसाइट पर इसका ब्योरा उपलब्ध कराया जाना चाहिए। बैंकों से यह भी कहा गया है कि वे ऐसे ग्राहकों से “अपने ग्राहक को जानिये (केवाईसी)” से संबंधित दस्तावेज और जीवन प्रमाणपत्र भी उनके घर जाकर लें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here