क्या आप जानते हैं भारत में गुलामी के प्रतीकों के बारे में – भाग २

0
115
allahabad

भारत सदियों तक मुस्लिम आक्रांताओं, पुर्तगालियों एवं अंग्रेजों का गुलाम रहा है। लेकिन आज़ादी के इतने सालों के बाद भी भारत में कई ऐसे शहर हैं, जो आज भी गुलामी के प्रतीकों को संजो कर रखा है। इन्ही शहरों के बारे में आपको जानकारी दी जा रही है। इस भाग में हम आपको बताएँगे, उन शहरों के नाम जो मुस्लिम आक्रांताओं की गुलामी के प्रतीक हैं :-

मुरादाबाद :-

Moradabad

मुरादाबाद उत्तर प्रदेश में स्थित है। इस शहर का नाम शाह जहाँ के पुत्र एवं औरंगज़ेब के भाई मुराद बक्श के नाम पर रखा गया है।

अहमदाबाद :-

 

ahmedabad

अहमदाबाद गुजरात का एक जाना माना शहर है। पहले इस शहर का नाम कर्णावती था। 1411 में अहमद शाह ने इस पर अधिकार कर लिया और अहमद शाह के नाम पर इस शहर का अहमदाबाद रखा गया।

औरंगाबाद :-

aurangabad

औरंगाबाद महाराष्ट्र का एक शहर है। 1653 में मुगल शहज़ादा क्रूर औरंगज़ेब यहाँ का वाइसराय नियुक्त हुआ, तब उसने इस शहर का नाम अपने नाम के आधार पर औरंगाबाद रखा। परन्तु आधिकारिक तौर पर इसे संभाजी नगर कहा जाता है।

इलाहाबाद :-

allahabad

इलाहाबाद उत्तरप्रदेश का एक शहर है। प्राचीनकाल में इसे प्रयाग नाम से जाना जाता था। शहर का वर्तमान नाम 1583 में अकबर के द्वारा रखा गया।

फ़िरोज़ाबाद :-

firozabad

फ़िरोज़ाबाद उत्तर प्रदेश का शहर है, जो कि चूड़ियों के लिए प्रसिद्ध है। फ़िरोज़ाबाद की स्थापना फ़िरोज़शाह तुगलक ने की थी।

मुज़फ्फरनगर :-

muzaffarnagar

मुजफ्फरनगर भी उत्तर प्रदेश का एक शहर है। इस नगर की स्थापना 1633 में शाह जहाँ के कमांडर सईद मुज़फ्फर खान के पुत्र के द्वारा की गई थी तथा मुज़फ्फर खान के नाम पर इस शहर का नाम मुजफ्फरनगर रखा गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here