gangotri

विश्व प्रसिद्ध गंगोत्री धाम के कपाट 20 अक्टूवर को अन्नकूट पर्व पर श्रद्वालुओं के लिये बंद कर दिये जायेंगे. गंगोत्री मंदिर समिति के अध्यक्ष मुकेश सेमवाल ने बताया कि दीपावली के अगले दिन अन्नकूट पर्व पर दोपहर 11 बजकर 40 मिनट पर गंगोत्री धाम के कपाट श्रद्धालुओं के लिये बंद कर दिये जायेंगे. उसके बाद अगले छह माह तक श्रद्वालु मां गंगा के दर्शन उनके शीतकालीन प्रवास मुखबा में कर सकेंगे. उत्त्तरकाशी जिले में ही स्थित एक और पवित्र धाम यमुनोत्री के कपाट भाई दूज पर 21 अक्टूबर को दोपहर बाद एक बजकर 27 मिनट पर श्रद्धालुओं के लिए बंद होंगे. इसके बाद मां यमुना के दर्शन खरसाली गांव में किये जा सकेंगे.

दोनों धामों के कपाट अगले साल अक्षय तृतीया के पावन पर्व पर श्रद्वालुओं के दर्शन के लिये दोबारा खोल दिये जायेंगे. गढ़वाल के उच्च हिमालयी क्षेत्रों में स्थित चारों धामों (गंगोत्री, यमुनोत्री, केदारनाथ और बदरीनाथ) के सर्दियों में बर्फवारी और भीषण ठंड की चपेट में रहने के कारण उन्हें श्रद्वालुओं के लिये बंद कर दिया जाता है जो अगले साल अप्रैल-मई में दोबारा खोले जाते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here